Sunday, May 19, 2024
Homeउत्तराखंडसीएम तीरथ ने पूर्व मुख्यमंत्री के गैरसैंण कमिश्नरी के गठन का फैसला...

सीएम तीरथ ने पूर्व मुख्यमंत्री के गैरसैंण कमिश्नरी के गठन का फैसला पलटा

देहरादून: सीएम तीरथ सिंह रावत ने गैरसैंण कमिश्नरी को लेकर सरकार का रुख स्पष्ट किया है। उन्होंने कहा कि कमिश्नरी गठन पर रोक रहेगी। सरकार जनता की नब्ज महसूस करके ही कोई कदम उठाएगी। कोरोना से संक्रमित होने की वजह से सीएम तीरथ सिंह रावत शुक्रवार को दून में वर्चुअल माध्यम से पत्रकारों से रूबरू हुए। यह पूछे जाने पर गैरसैंण कमिश्नरी को लेकर राज्य सरकार का क्या रुख है? इस पर सीएम ने कहा कि, जनभावनाएं जो कहेंगी, यहां वही होगा। इसी वजह से राज्य सरकार ने कमिश्नरी के गठन को पास नहीं किया है और नोटिफिकेशन पर भी रोक लगाई गई है।

https://uk.gov.in/

बता दें कि सीएम की कमान संभालते ही तीरथ सिंह रावत ने पहले ही साफ कर दिया था कि गैरसैंण कमिश्नरी पर सरकार पुनर्विचार करेगी। यह पूछे जाने पर कि, कमिश्नरी में अल्मोड़ा जिला शामिल करने के विरोध में आंदोलन चल रहा है। सीएम ने कहा, विधानसभा चुनाव नजदीक हैं तो कुछ लोग आंदोलन करेंगे ही। सरकार जनता की आवाज पर काम करेगी। इसमें कोई भ्रम वाली बात नहीं। इसके बाद भी कोई आंदोलन करता है तो क्या कर सकते हैं।

बीते चार मार्च को तत्कालीन सीएम त्रिवेंद्र रावत ने गैरसैंण को कमिश्नरी बनाने का ऐलान कर चमोली, रुद्रप्रयाग, अल्मोड़ा, बागेश्वर को शामिल किया था। मगर, इसके बाद कमिश्नरी में अल्मोड़ा को शामिल करने का विरोध शुरू हो गया था। उत्तराखंड में नेतृत्व परिवर्तन की एक वजह यह फैसला भी माना गया। गैरसैंण जिला बनाने पर समय आने पर विचार:यह पूछे जाने पर कि, सरकार के कई मंत्री गैरसैंण कमिश्नरी की बजाय जिला बनाने की वकालत कर रहे हैं, सीएम बोले, वे मंत्रियों की भावनाओं से सहमत हैं, लेकिन जब समय आएगा तो जरूर विचार करेंगे। काबिलेगौर है कि, कांग्रेस-उक्रांद समेत कई संगठन गैरसैंण को जिला बनाने की मांग उठा रहे हैं।

यह भी पढ़े: http://CM: विद्युत परियोजनाओें के कार्य जल्द हो सम्मपन, बिजली चोरी पर बरते सख्ती

RELATED ARTICLES

Most Popular