Saturday, December 4, 2021
spot_img
spot_img
Homeउत्तराखंडदेवभूमि उत्तराखंड की तीर्थ नगरी ऋषिकेश में सोमवार को गङ्गा टास्क फोर्स...

देवभूमि उत्तराखंड की तीर्थ नगरी ऋषिकेश में सोमवार को गङ्गा टास्क फोर्स की मशाल यात्रा का त्रिवेणी घाट पर पारम्परिक वाद्य यंत्रों के साथ भव्य स्वागत किया

ऋषिकेश: गंगा जी को भारत सरकार जल शक्ति मंत्रालय की ओर से बीती 4 नवम्बर को राष्ट्रीय नदी घोषित किये जाने के साथ ही देशभर में गंगा उत्सव के कार्यक्रम आयोजित किये गए। इस क्रम में नमामि गंगे कार्यों की समीक्षा के लिए जनपद के जिलाधिकारी की अध्यक्षता में गतहोत जिला गङ्गा सुरक्षा समिति द्वारा देवभूमि उत्तराखंड की तीर्थ नगरी ऋषिकेश में सोमवार को गङ्गा टास्क फोर्स की मशाल यात्रा का त्रिवेणी घाट पर पारम्परिक वाद्य यंत्रों के साथ भव्य स्वागत किया गया।यात्रा का नेतृत्व कर रहे भारतीय सेना के कर्नल रोहित श्रीवास्तव और मेजर एल एंन जोशी ने बताया कि जिस तरह से गङ्गा जी की यह मशाल जल रही है इसी प्रकार गङ्गा माता के प्रति आमजन को स्वच्छता की ज्योति जलाए रखनी होगी।कार्यक्रम में उत्तराखंड विधानसभा के अध्यक्ष एवं स्थानीय विधायक प्रेम चन्द्र अग्रवाल ने मशाल यात्रा का स्वागत किया,जबकि स्थानीय नगर निगम महापौर अनिता मंमगाई एवं एंन एम सी जी के उप निदेशक वित्त सुनील कुमार सिंह ने मशाल यात्रा को हरी झंडी दिखाकर हरिद्वार के लिए रवाना किया।इस अवसर पर महापौर ने कहा कि गङ्गा स्वच्छता के लिए हम सतत प्रतिबद्ध हैं।कार्यक्रम का संचालन करते हुए जिला गङ्गा सुरक्षा समिति के नामित सदस्य पर्यावरणविद विनोद जुगलान ने कहा कि जलशक्ति मंत्रालय एवं माननीय प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि इस तरह के भव्य आयोजन का उद्देश्य आमजन को गङ्गा जी की पारिस्थितिकी तन्त्र से जोड़ते हुए गङ्गा की अविरलता के प्रति जागरूकता लाना है।कार्यक्रम में मशाल यात्रा में शामिल मेजर गोल्डी बोरा,मेजर एल एन जोशी,सुबेदार शिवेंद सिंह,सूबेदार ललित मोहन,नमामि गंगे के पुरन चंद्र कापड़ी,मुख्य नगर आयुक्त ऋषिकेश जी सी गुणवंत,जिला विकास अधिकारी स्वजल परियोजना प्रबन्धक सुशील मोहन डोभाल,पर्यावरण विशेषज्ञ डॉ हर्ष पन्त,अवशेष चौहान,दिनेश चमोली,नीलम पंत,विनीता रमोला,ललिता उनियाल,पंकज शर्मा,दीपक तायल,एनएसएस के संवन्यक पुष्कर सिंह नेगी,नगर निगम के नोडल अधिकारी गुरमीत सिंह सहित बड़ी संख्या में नगर पार्षद एवं विद्यार्थी उपस्थित रहे।

यह भी पढ़े:  एसएसपी अल्मोड़ा की सराहनीय पहल पर पारम्परिक उत्तराखंड की अमूल्य धरोहर लोककला ऐपण से बनी नेम प्लेट से सजा पुलिस कार्यालय

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img
- video Advertisment -

Most Popular