Saturday, January 22, 2022
Homeउत्तराखंडनवनीत सिंह सेनानायक SDRF उत्तराखंड पुलिस का स्थानांतरण

नवनीत सिंह सेनानायक SDRF उत्तराखंड पुलिस का स्थानांतरण

देहरादून: राज्य आपदा प्रतिवादन बल के 9वें सेनानायक के रूप में नवनीत सिंह (आईपीएस) द्वारा दिनाँक 18 जनवरी 2021 को कार्यभार ग्रहण किया गया था। लगभग 11 महीनों के कार्यकाल में सेनानायक महोदय द्वारा SDRF में कई महत्वपूर्ण कार्य किये गए।

चाहे रैंणी आपदा में तत्काल प्रतिवादन हो या फिर महाकुंभ का सकुशल संपादन, द्वारा स्वयं प्रथम पटल पर उपस्थित रहकर समस्त कर्तव्यों का कुशलतापूर्वक निर्वहन किया गया। कोविड-19 की द्वितीय लहर के दौरान पीड़ितों को मेडिसिन किट पहुँचाने से लेकर कोविड संक्रमित शवों के दाह संस्कार का कार्य भी1 के नेतृत्व में कुशलतापूर्वक किया गया। साथ ही महाकुंभ के दौरान कोविड के दृष्टिगत चलाये गए व्यापक जनजागरूकता अभियान के माध्यम से लगभग 04 लाख से अधिक लोगों को कोविड से बचाव संबंधी जानकारी दी गयी।

सेनानायक के प्रयासों से वाहिनी मुख्यालय जॉलीग्रांट में पुलिस कल्याणार्थ ”सेंट्रल पुलिस कैंटीन” का भी शुभारंभ किया गया, जिससे अनेक पुलिस परिवार लाभ उठा रहे है। नवनीत सिंह के कार्यकाल में SDRF द्वारा 534 रेस्क्यू कार्यो के माध्यम से 2397 लोगो के जीवन की रक्षा की है व 332 शवो को बरामद किया है।

SDRF उत्तराखंड पुलिस में नवनीत सर की सेनानायक के पद पर यह प्रथम नियुक्ति थी जबकि SDRF में चतुर्थ नियुक्ति। नवनीत सिंह एक बेहतरीन पर्वतारोही भी है जिनके द्वारा पूर्व में वर्ष 2015 में भागीरथी 2 एवम वर्ष 2017 में सतोपंथ शिखर का सफल आरोहण किया गया था। वर्ष 2018 में उत्तराखंड पुलिस के मिशन एवरेस्ट अभियान के दौरान माउंटीनीरिंग टीम के डिप्टी लीडर की जिम्मेदारी श्री नवनीत सिंह (तत्कालीन उपसेनानायक) SDRF को दी गयी थी।

आज दिनाँक 17 दिसम्बर 2021 को SDRF वाहिनी मुख्यालय में नवनीत सिंह को जनपद टिहरी गढ़वाल के वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक की महत्वपूर्ण जिम्मेदारी मिलने पर स्थानांतरण पर रवाना होने से पूर्व उनके सम्मान में विदाई समारोह का आयोजन किया गया। उक्त समारोह में उपस्थित समस्त अधिकारियों/कर्मचारियों द्वारा महोदय को भावभीनी विदाई दी गयी व एसडीआरएफ परिवार की ओर से स्मृति चिन्ह भेंट कर सम्मानित किया गया।

सेनानायक ने सभी का आभार व्यक्त करते हुए कहा कि आप सभी को गौरवान्वित होना चाहिए कि आप सब एसडीआरएफ जैसे बल का अभिन्न अंग है , वह बल जो पुलिसिंग के साथ साथ मानवसेवा भी करता है। हमेशा पूर्ण निष्ठा एवं ईमानदारी से अपने कर्तव्य को पूर्ण करें और एसडीआरएफ का नाम रोशन करने हेतु प्रयासरत रहें।

यह भी पढ़े: CM पुष्कर सिंह धामी ने किया अल्मोड़ा हवालबाग में 02 दिवसीय आजीविका महोत्सव का शुभारम्भ

Download Android App

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img

Most Popular