Tuesday, November 30, 2021
spot_img
spot_img
Homeट्रेंडिंगDelhi pollution emergency: स्कूल, थर्मल प्लांट बंद, ट्रकों के प्रवेश पर...

Delhi pollution emergency: स्कूल, थर्मल प्लांट बंद, ट्रकों के प्रवेश पर लगा प्रतिबंध, क्योंकि राजधानी में बढ़ता हानिकारक हवा का केहर

नई दिल्ली: पृथ्वी विज्ञान मंत्रालय के वायु गुणवत्ता मॉनिटर, सिस्टम ऑफ एयर क्वालिटी एंड के अनुसार, दिल्ली में वायु प्रदूषण  (Delhi pollution emergency) का स्तर बुधवार सुबह ‘बहुत खराब’ श्रेणी में रहा, जिसमें समग्र वायु गुणवत्ता सूचकांक (AQI) 379 था। मौसम पूर्वानुमान और अनुसंधान (सफर) एनसीआर और आसपास के क्षेत्रों में वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (सीएक्यूएम) ने स्थिति से निपटने के लिए अन्य कदमों के अलावा निर्माण गतिविधि पर प्रतिबंध, पब्लिक स्कूलों को बंद करने सहित कई निर्देश जारी किए।

दिल्ली के कुछ हिस्सों में वायु गुणवत्ता
आज सुबह 6 बजे, 10 और 2.5 माइक्रोन के व्यास वाले पार्टिकुलेट मैटर (पीएम) की सांद्रता क्रमशः 362 और 222 पर डॉक की गई, दोनों ही SAFAR के अनुसार ‘बहुत खराब’ क्षेत्र में आते हैं।

केंद्रीय वायु प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड के आंकड़ों के अनुसार, चांदनी चौक में एक्यूआई 367, इंदिरा गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे (टी 3) में 362, दिलशाद गार्डन (आईएचबीएएस) में 353, मथुरा रोड में 396, नजफगढ़ में 349, आईटीओ में 393 दर्ज किया गया। और सिरीफोर्ट में 368, सभी ‘बेहद खराब’ श्रेणी में आते हैं। इस बीच, आनंद विहार, बवाना, जहांगीरपुरी, मुंडका, रोहिणी, शादीपुर, पंजाबी बाग और वजीरपुर में वायु गुणवत्ता ‘गंभीर’ दर्ज की गई, जिसमें एक्यूआई क्रमश: 432, 416, 454, 419, 432, 438, 413 और 426 दर्ज किया गया।

0-5 की सीमा के भीतर एक AQI को ‘अच्छा’, 51-100 को ‘संतोषजनक’, 101-200 को ‘मध्यम’, 201-300 को ‘खराब’ और 301-400 को ‘बहुत खराब’ और 401 को माना जाता है। सरकारी एजेंसियों के मुताबिक -500 को ‘गंभीर’ माना जाता है।

केंद्र द्वारा संचालित प्रदूषण निगरानी प्रणाली ने अनुमान लगाया है कि दिल्ली की समग्र वायु गुणवत्ता कल तक ‘बहुत खराब’ श्रेणी में मामूली गिरावट दर्ज करने की उम्मीद है। शहर का समग्र एक्यूआई 395 पर रहने की उम्मीद है, जिसमें पीएम10 और पीएम2.5 कणों की सांद्रता क्रमशः 399 और 244 है।

सीएक्यूएम ने दिल्ली-एनसीआर में प्रदूषण  (Delhi pollution emergency) की आपात स्थिति से निपटने के निर्देश जारी किए। अत्यधिक वायु प्रदूषण के मद्देनजर, वायु गुणवत्ता प्रबंधन आयोग (CAQM) ने मंगलवार रात एनसीआर में कॉलेजों, स्कूलों और अन्य शैक्षणिक संस्थानों को अगले आदेश तक बंद रहने का निर्देश दिया। इसके अलावा, प्रदूषण पैनल ने कहा कि राष्ट्रीय राजधानी के 300 किमी के दायरे में स्थित 11 ताप विद्युत संयंत्रों में से केवल पांच ही 30 नवंबर तक संचालित होंगे।

इसके अलावा, प्रदूषण पैनल ने 21 नवंबर तक निर्माण और विध्वंस गतिविधियों को रोकने का निर्देश दिया। राष्ट्रीय महत्व की परियोजनाओं, राष्ट्रीय सुरक्षा, रक्षा संबंधी गतिविधियों, रेलवे, मेट्रो रेलवे, हवाई अड्डों और आईएसबीटी को इस दिशा से छूट दी गई है।

News Trendz आप सभी से अपील करता है कि कोरोना का टीका (Corona Vaccine) ज़रूर लगवाये, साथ ही कोविड नियमों का पालन अवश्य करे। 

यह भी पढ़े: आज का पंचांग व दैनिक राशिफल News Trendz पर: एस्ट्रो राजीव अग्रवाल के साथ

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img
- video Advertisment -

Most Popular