Tuesday, November 30, 2021
spot_img
spot_img
Homeउत्तराखंडउत्तराखंड की लोक संस्कृति को संजोये ईगास बग़्वाल पर्व पर त्रिवेणी घाट...

उत्तराखंड की लोक संस्कृति को संजोये ईगास बग़्वाल पर्व पर त्रिवेणी घाट पर गढ़ सेवा संस्थान द्वारा आयोजन किया गया

ऋषिकेश:  उत्तराखंड की लोक संस्कृति को संजोये ईगास बग़्वाल पर्व पर त्रिवेणी घाट पर गढ़ सेवा संस्थान द्वारा भव्य कार्यक्रम का आयोजन किया गया| इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल एवं उपस्थित लोगों द्वारा आयोजित कार्यक्रम में भैलो खेलकर एवं पहाड़ की संस्कृति पर आधारित गीतों पर झूमकर पर्व को धूमधाम से मनाया गया|
त्रिवेणी घाट पर संस्था द्वारा आयोजित कार्यक्रम के दौरान प्रसिद्ध उत्तराखंडी लोक कलाकार गायक धूम सिंह रावत, पदम गुसाईं तथा प्रसिद्ध हास्य कलाकार घन्ना भाई द्वारा मनमोहक प्रस्तुतियां दी गई जिससे कार्यक्रम में मौजूद लोग मंत्रमुग्ध हो गए| इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने शिक्षा चिकित्सा स्वरोजगार के क्षेत्र में समाज में उत्कृष्ट कार्य करने वाले महानुभावों का सम्मान भी किया|
विधान सभा अध्यक्ष ने उत्तराखंड की संस्कृति को संरक्षित रखने के उद्देश्य से ईगास पर्व को स्थानीय लोगों के साथ बड़े उत्साह के साथ मनाया।इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष एवं उपस्थित अन्य लोगों ने गढ़वाली गीतों पर नृत्य किया वहीं भैलो खेल कर लोक संस्कृति का परिचय दिया।भैलो घुमाकर एक-दूसरे को इगास पर्व की बधाई भी दी गयी।
इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि यह पर्व हम सबको जीवन में सुख, समृद्धि एवं उत्तम स्वास्थ्य प्रदान करे। उन्होंने कहा कि उत्तराखंड, एक ऐसा प्रदेश जहां की संस्कृति कई रंगों से भरी हुई है। जहां की बोली में एक मिठास है। जहां हर त्योहार को अनूठे अंदाज में मनाया जाता है। इगास-बग्वाल एक ऐसा ही त्योहार है जो उत्तराखंड की परंपराओं को जीवंत कर देता है।
इस अवसर पर गढ़ सेवा संस्थान के अध्यक्ष देवेंद्र सिंह नेगी, महासचिव रविंद्र राणा, कोषाध्यक्ष गोपाल सती, ताजेंद्र नेगी, मनोज ध्यानी, अरुण बडोनी, राजवीर रावत, डोईवाला के ब्लॉक प्रमुख भगवान सिंह पोखरियाल, दिनेश पयाल, भगवती प्रसाद रतूड़ी, सुमित पवार, कौशल बिजलवान, दिनेश सती, गणेश रावत, कमला नेगी, आदि सहित में बड़ी संख्या में लोग उपस्थित थे ।

News Trendz आप सभी से अपील करता है कि कोरोना का टीका (Corona Vaccine) ज़रूर लगवाये, साथ ही कोविड नियमों का पालन अवश्य करे। 

यह भी पढ़े: http://CM बनने के बाद पहली बार अपने पैतृक गांव ‘हड़खोला’ डीडीहाट पहुंचे धामी तो बेटे की एक झलक पाने को उमड़ा गांव के लोगों का हुजूम

RELATED ARTICLES
- Advertisment -spot_imgspot_img
- video Advertisment -

Most Popular