Friday, April 12, 2024
Homeउत्तर प्रदेश‘मुख्तार को मारकर रास्ते से हटाया गया…’, भाई अफजाल ने किया बड़ा...

‘मुख्तार को मारकर रास्ते से हटाया गया…’, भाई अफजाल ने किया बड़ा दावा

गाजीपुर: उत्तर प्रदेश की मऊ विधानसभा से पूर्व विधायक और गैंगस्टर मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) को शनिवार को सुपुर्द-ए-खाक किया गया। परिजनों ने दावा किया कि मुख्तार की मौत जेल में दिए गए जहर की वजह हुई है। मुख्तार के भाई सांसद अफजाल अंसारी (Afzal Ansari ) ने भी कुछ चौंकाने वाले दावे किए हैं। उन्होंने कहा कि मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) को मार कर रास्ते से हटाया गया है। सही वक्त आने पर हम इस बात का पुख्ता सुबूत देंगे कि मुख्तार को जेल में जहर देकर मारा गया है। कुछ अपराधियों को बचाने के लिए पूरी सरकार और उसकी मशीनरी ने बहुत बड़ी साजिश रची है।

अफजाल अंसारी (Afzal Ansari ) ने कहा कि उन्हें कोई शर्म नहीं है, 26 मार्च को मुख्तार को बांदा जेल से मेडिकल कॉलेज भेजा गया था। पुलिस ने कहा कि उन्हें इसलिए भेजा गया क्योंकि डॉक्टरों ने सुझाव दिया था। जब हम अस्पताल पहुंचे तो हमें बड़ी मुश्किल से सिर्फ 5 मिनट के लिए मिलने दिया गया। इस दौरान मुख्तार ने कहा कि उनको जहर दिया गया था और इस वजह से वह बेहोश हो गए थे। मुख्तार ने बताया था कि वह बेहद दर्द में हैं।

डीएम से भिड़े अफजाल अंसारी (Afzal Ansari )

मुख्तार अंसारी (Mukhtar Ansari) के जनाजे के दौरान बड़ी तादाद में समर्थकों की भीड़ आई थी, जो मिट्टी देने के लिए कब्रिस्तान के अंदर जाना चाह रही थी। दूसरी तरफ पुलिस प्रशासन ने सिर्फ परिवार के लोगों को ही कब्रिस्तान के अंदर जाने की छूट दे रखी थी। जब गाजीपुर की डीएम आर्यका अखोरी ने अफजाल अंसारी से अंदर जाने वाले लोगों पर बात की तो तीखी बहस हो गई। इस दौरान अफजाल अंसारी बेहद गुस्से में नजर आए। अफजाल ने कहा कि अगर दूसरे लोग भी मुख्तार के सुपुर्द-ए-खाक में शामिल होना चाहते हैं, तो उन्हें कोई नहीं रोक सकता। इस पर डीएम आर्यका अखोरी ने कहा कि मैं डीएम हूं, इसके लिए इजाजत नहीं ली गई है।

अफजाल अंसारी (Afzal Ansari ) ने जवाब देते हुए कहा कि आप चाहे कुछ भी हों, धार्मिक प्रयोजन के लिए या किसी को मिट्टी देने के लिए अनुमति की जरूरत नहीं होती है। इस पर डीएम ने कहा कि जरूरत होती है क्योंकि यहां धारा 144 लगी हुई है। आप सिर्फ परिवार के लोगों को लेकर अंदर जाइए। इसके बाद अफजाल अंसारी ने जवाब देते हुए कहा कि जो भी मिट्टी देना चाहता है वो दे सकता है, उसे कोई नहीं रोक सकता। डीएम ने फिर जवाब दिया और कहा कि, ‘ठीक है, सभी की वीडियोग्राफी हो रही है, हम आप सभी के खिलाफ उचित कार्रवाई करेंगे।’

वहीं इस घटना को लेकर गाजीपुर के एसएसपी ओमवीर सिंह ने कहा, मुख्तार के परिजन मिट्टी डाल रहे थे, बीच में गलियों से लोग आ गए थे, उनकी पहचान की जा रही है। बता दें कि गुरुवार की रात मुख्तार अंसारी की मौत के बाद शुक्रवार को उसके शव को उसके जन्मस्थान गाजीपुर लाया गया जहां उसे कालीबाग स्थित कब्रिस्तान में दफनाया गया।

 

RELATED ARTICLES

Most Popular