Wednesday, April 24, 2024
Homeउत्तर प्रदेशरामनवमी पर नहीं हो सकेगा रामलला का सूर्य अभिषेक, चंपत राय ने...

रामनवमी पर नहीं हो सकेगा रामलला का सूर्य अभिषेक, चंपत राय ने बताई यह वजह

अयोध्या। राममंदिर निर्माण समिति की दो दिवसीय बैठक शुक्रवार को समाप्त हुई। बैठक में मंदिर निर्माण के कार्यों व रामनवमी मेले (Ramnavami Mela) की तैयारियों पर चर्चा हुई। बैठक में समिति के अध्यक्ष नृपेंद्र मिश्र के समक्ष इंजीनियरों ने प्रेजेंटेशन के माध्यम से बताया कि राममंदिर (Ram Mandir) समेत कई प्रकल्पों का काम 18 माह में पूरा हो जाएगा। इंजीनियरों ने यह भी बताया कि इस रामनवमी रामलला (Ramlalla) के सूर्य अभिषेक की योजना साकार नहीं हो सकेगी।

बैठक के बाद राममंदिर ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने कहा कि इस बार रामनवमी पर भगवान सूर्य अपनी रोशनी से दोपहर 12 बजे रामलला (Ramlalla) का तिलक नहीं कर पाएंगे। इसके पीछे का कारण यह है राममंदिर के गर्भगृह के ऊपर का मुख्य शिखर के निर्माण का काम पूरा नहीं हो सका है।

रामजन्मोत्सव का होगा लाइव प्रसारण

चंपत राय ने बताया कि रामनवमी मेले में 25 से 30 लाख भक्तों के आने की संभावना है। इस समय लगभग सवा लाख भक्त रोजाना दर्शन कर रहे हैं। ट्रस्ट किसी भी भगदड़ जैसी स्थिति से बचने के लिए भक्तों के लिए बहु प्रवेश और निकास द्वार पर विचार कर रहा है। वहीं भक्त घर बैठे रामजन्मोत्सव के साक्षी बन सके इसके लिए लाइव प्रसारण की भी योजना बन रही है।

अमावा मंदिर में भी होंगे रामलला (Ramlalla) के दर्शन

राममंदिर से सटे अमावा मंदिर में भी अब भक्तों को रामलला (Ramlalla) के दर्शन प्राप्त होंगे। अमावा मंदिर में शुक्रवार को प्राण प्रतिष्ठा समारोह का आयोजन किया गया। मंदिर परिसर में 51 इंच के रामलला की प्राण प्रतिष्ठा महावीर मंदिर के मुख्य पुरोहित भवनाथ झा के आचार्यत्व व अमावा मंदिर के मुख्य ट्रस्टी पूर्व आईपीएस किशोर कुणाल के सानिध्य में हुई।

अमावा मंदिर के प्रवेश द्वार पर भव्य मंदिर का निर्माण कर उसमें वियतनाम के संगमरमर से निर्मित रामलला की 51 इंच की मूर्ति की प्राण प्रतिष्ठा की गई।

यह भी पढ़े: मथुरा से सीएम योगी करेंगे भाजपा के प्रचार अभियान का आगाज

RELATED ARTICLES

Most Popular