Thursday, May 19, 2022
spot_imgspot_img
spot_imgspot_img
Homeपॉलिटिक्सराजस्थान: 34 दिन बाद सचिन पायलट पहुंचे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के घर

राजस्थान: 34 दिन बाद सचिन पायलट पहुंचे मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के घर

जयपुर में आज कांग्रेस विधायक दल की बैठक हो रही है। विधान सभा के आगामी सत्र के मद्देनज़र बुलाई गयी बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत, राजस्‍थान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सचिन पायलट, कांग्रेस के राष्‍ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल और राजस्‍थान कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा शामिल हैं।

जयपुर: राजस्थान विधानसभा के कल से शुरू होने वाले सत्र से पहले आज कांग्रेस विधायक दल की एक बैठक जयपुर में हो रही है। यह बैठक मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के सरकारी आवास पर हो रही है। इस बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के अलावा कांग्रेस से बगावत करने वाले राजस्‍थान कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष सचिन पायलट, कांग्रेस के राष्‍ट्रीय महासचिव केसी वेणुगोपाल और राजस्‍थान कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा भी शामिल हैं। करीब एक महीने तक चले सियासी संग्राम के बाद हो रही इस बैठक में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और सचिन पायलट की मुलाकात हो रही है।

सचिन पायलट और अशोक गहलोत के बाद राजस्‍थान का सियासी संकट थम गया है। इस समय सभी विधायक और सीनियर नेता सीएम आवास पर मौजूद हैं और विक्‍ट्री साइन दिखाकर अपनी खुशी जाहिर कर रहे हैं।

https://newstrendz.co.in/tech/microsoft-launch-new-smartphone-surface-duo/

कांग्रेस विधायक दल की बैठक शुरू हो गयी है, इस बैठक में सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायक भी शामिल हैं। बैठक में सचिन पायलट को मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के बगल में बैठने की जगह दी गयी है। इस बैठक में केसी वेणुगोपाल, अविनाश पाण्डे, रणदीप सुरजेवाला, अजय माकन और राजस्‍थान कांग्रेस के अध्यक्ष गोविंद सिंह डोटासरा भी मौजूद है।

 

इस बैठक में सचिन पायलट के समर्थक विधायक भी सीएम आवास पर हैं, तो कांग्रेस के विधायक भी तीन बसों में सवार होकर होटल फेयरमोंट से सीएम आवास पहुंचे हैं।

विधायक दल की बैठक में शामिल होने के लिए पहुंचे पूर्व डिप्‍टी सीएम सचिन पायलट का सीएम अशोक गहलोत ने शानदार स्‍वागत किया। दोनों का 34 दिन बाद आमना-सामना हो रहा है।

राजस्‍थान कांग्रेस में सत्ता के लिए हुए इस संघर्ष के दौरान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के खेमे ने जहां पहले जयपुर के पास कूकस में स्थित होटल फेयरमाउंट में डेरा डाले हुआ था। वहीं सचिन पायलट खेमे ने भी हरियाणा के मानेसर में एक होटल में अपना डेरा डाला हुआ था। बाद में सचिन पायलट खेमा मानेसर से दिल्ली चला गया और वहां एक होटल में विधायकों की बाड़बंदी की गई थी।

इस माह की शुरुआत में अशोक गहलोत खेमे ने भी अपनी बाड़बंदी का स्थान बदल लिया था। गहलोत समर्थक सभी विधायकों को जैसलमेर ले जाकर वहां होटल सूर्यगढ़ में ठहराया गया था। इस बीच दिल्ली में हुई सुलह के बाद सचिन पायलट खेमे के विधायक सोमवार रात से जयपुर लौटना शुरू हो गये थे। जबकि अशोक गहलोत खेमे के सभी विधायक बुधवार को विशेष विमान से जयपुर पहुंचे। लेकिन इस सियासी सुलह के बावजूद अभी भी दोनों दलों के दिल नहीं मिले हैं। नेताओं के बयानों में तल्खी साफ झलक रही है। इस बीच सीएम अशोक गहलोत ने आज ट्वीट कर पार्टी में उपजे अंसतोष को छोड़कर नए सिरे से आगे बढ़ने का आह्वान किया है।

 

यह भी पढ़े: मोदी सरकार ने किया टैक्स सिस्टम में बड़ा सुधार, टैक्सपेयर्स को मिले बड़े अधिकार

Download Android App

RELATED ARTICLES

Most Popular